Breaking News

पूर्णियाँ से उड़ान सेवा शुरू करने के लिए एम एसयू के जिलाध्यक्ष ने केंद्रीय नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री को सौंपा ज्ञापन

पूर्णिया-  मिथिला स्टूडेंड यूनियन पूर्णियां से सिविल एयरपोर्ट की मांग को लेकर पिछले 2 वर्षों से सोशल मीडिया से लेकर सरज़मीं पर आंदोलन कर रही है। गौरतलब है कि पूर्णियाँ से विमान सेवा शुरू होने में जमीन अधिग्रहण सबसे बड़ी अड़चन थी। जमीन अधिग्रहण के विरुद्ध स्थानीय किसानों ने पटना हाईकोर्ट में मुकदमा दायर किया था। उक्त मुकदमे में जल्द सुनवाई करवाने के लिए पिछले साल सितंबर महीने में एमएसयू ने हस्ताक्षर अभियान चला कर उच्च न्यायालय को प्रार्थना पत्र दिया था। जिसके बाद न्यायालय ने सुनवाई करते हुए पूर्णियाँ जिलाधिकारी को निर्देश दिया कि जल्द कलेक्टर कोर्ट में सुनवाई कर मामले का निष्पादन करें। उसके बाद जिलाधिकारी ने 25 अप्रैल को घोषणा करते हुए बताया कि कुल 52 एकड़ जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया पूरी कर बिहार सरकार के माध्यम से नगर विमानन मंत्रालय के निदेशक को सौंप दी गई।

 

इसके बाद हवाई सेवा का सपना साकार होता दिख रहा है।

इसी कड़ी में मिथिला स्टूडेंड यूनियन के जिलाध्यक्ष सह प्रमण्डल प्रभारी अविनाश कुमार मिश्र ने नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जनरल वी0के0 सिंह के दिल्ली आवास पर मुलाकात कर पूर्णियां से हवाई सेवा शुरू करने ज्ञापन दिया। साथ ही पूर्णियाँ एयरपोर्ट पर बनी मिथिला पेंटिंग भी भेंट किया। एम एसयू जिलाध्यक्ष ने बताया कि नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री ने आश्वस्त किया की जमीन अधिग्रहण पर राज्य सरकार से समन्वय स्थापित हो गया है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि चूंकि पूर्णियाँ एक सैन्य हवाई अड्डा है इसलिए रक्षा मंत्रालय से एन ओ सी के लिए डी पी आर भेजा गया है जैसे ही एनओसी मिलता है सिविल एनक्लेव व टर्मिनल बिल्डिंग निर्माण के लिए नागरिक उड्डयन मंत्रालय द्वारा टेंडर निकला जाएगा। साथ ही विमानन कंपनियों की भी टेंडरिंग कराई जाएगी। संभवतः मार्च 23 तक पूर्णियाँ एयरपोर्ट से तत्काल 5 शहरों के लिए घरेलू उड़ान शुरू करवा दिया जाएगा। इस मौके पर पूर्वी दिल्ली के युवा समाजसेवी कायम मेहंदी भी उपस्थित थे।

About editor

Check Also

मनोज तिवारी ने अपने खिलाफ लगाए गए पोस्टर के बारे में कहा कानूनी कार्रवाई की जाएगी। की जाएगी

मंत्री मनोज तिवारी ने उनके खिलाफ  लगाए गए पोस्टरों के खिलाफ अपना मुंह खोल दिया।  …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *