Breaking News

बंगाल भाजपा का आरोप- शांतिपूर्ण मार्च को पुलिस के बल पर कुचलने का प्रयास किया गया

कोलकाता, संवाददाता : बंगाल में भ्रष्टाचार के खिलाफ मंगलवार को भाजपा के नवान्न अभियान (राज्य सचिवालय मार्च) के दौरान कार्यकर्ताओं को रोके जाने और पुलिस कार्रवाई की घटना पर प्रदेश भाजपा ने कड़ी प्रतिक्रिया जताई है। प्रदेश भाजपा के मुख्य प्रवक्ता शमिक भट्टाचार्य ने शाम में एक संवाददाता सम्मेलन में ममता सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि शांतिपूर्ण मार्च को पुलिस के बल पर कुचलने का प्रयास किया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस ने मार्च को रोकने के लिए अलोकतांत्रिक तरीके से भाजपा कार्यकर्ताओं पर आक्रमण चलाया। उन्होंने कहा कि पुलिस द्वारा बाधा दिए जाने के चलते विभिन्न जिलों से 15 प्रतिशत कार्यकर्ता की कोलकाता पहुंच पाए, जबकि इन्हें रोकने के लिए पुलिस ने अपने 85 प्रतिशत कर्मियों को लगा दिया था। भट्टाचार्य ने दावा किया कि विभिन्न जगहों पर पुलिस द्वारा किए गए लाठचार्ज, आंसू गैस के गोले दागे जाने व पत्थरबाजी आदि से पार्टी के 363 कार्यकर्ता घायल हुए हैं, जिनमें 35 से ज्यादा अस्पताल में भर्ती हैं। उनमें तीन की हालत गंभीर है। उन्होंने साथ ही दावा किया कि पुलिस ने मार्च के दौरान भाजपा के 1235 कार्यकर्ताओं व नेताओं को गिरफ्तार किया है। भट्टाचार्य ने आगे कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ हमारा आंदोलन जारी रहेगा। हम इस प्रकार के हमले से डरने वाले नहीं हैं। उन्होंने कहा, यह निरंकुश ममता बनर्जी सरकार विपक्षी दलों को जगह देने में विश्वास नहीं करती है। शर्म की बात है कि पुलिस पक्षपातपूर्ण तरीके से काम कर रही है। इस दौरान भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि इस जंगल राज के खिलाफ हमारी लड़ाई जारी रहेगी। दूसरी ओर, भाजपा सांसद सौमित्र खां ने कहा कि टीएमसी के दिन अब गिनती के रह गए हैं और भाजपा निश्चित रूप से पार्टी के लोगों पर किए गए सभी अत्याचारों का जवाब देगी। दूसरी ओर, टीएमसी प्रवक्ता कुणाल घोष ने आरोप लगाया कि भाजपा विरोध की आड़ में परेशानी पैदा कर रही है। उन्होंने कहा, यह त्योहारी सीजन में बंगाल को अस्थिर करने के लिए एक बड़े गेम प्लान का हिस्सा है। यह लोकतांत्रिक आंदोलन नहीं है। यह गुंडागर्दी है। बता दें कि भाजपा के नवान्न अभियान को लेकर मंगलवार को हावड़ा व कोलकाता रणक्षेत्र में तब्दील हो गया। पुलिस की अनुमति के बगैर नवान्न की तरफ कूच कर रहे भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं ने रोके जाने पर जगह-जगह लगाए गए बैरिकेड को तोडऩे की कोशिश की, जिसे लेकर पुलिस के साथ उनकी जमकर झड़प हुई।

About editor

Check Also

संदेशखाली की घटना ने मध्ययुगीन बर्बरता को भी मात दे दिया है : शिवराज

  हावड़ा : मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बंगाल के संदेशखाली …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *