Breaking News

सीबीआइ सिर्फ यह जानना चाह रही थी कि उत्तर बंगाल में सुदीप्त सेन के साथ हुई बैठक में कौन-कौन लोग शामिल थे और इस बैठक में क्या बात हुई थी पूर्व सांसद सुजन चक्रवर्ती।

हावड़ा. शुक्रवार को तृणमूल कांग्रेस के विधायक मदन मित्रा द्वारा एसएसकेएम अस्पताल के लचर चिकित्सीय सुविधा के बारे में दिये गये बयान को लेकर माकपा नेता व पूर्व सांसद सुजन चक्रवर्ती ने भी सहमति जतायी है. श्री चक्रवर्ती ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस में अब पुराने नेताओं की कोई इज्जत नहीं है. यह पार्टी अब पीबीडी (पीसी भाइपो दल) की होकर रह गयी है. यह लुटेरों का दल है और पूरे राज्य का नाश कर रही है. श्री चक्रवर्ती शनिवार रात को उत्तर हावड़ा के बाबूडांगा में आयोजित एक कार्यक्रम में पहुंचे थे. उन्होंने कहा कि एसएसकेएम में दलाल राज चल रहा है. यही स्थिति देखकर श्री मित्रा ने अपनी भड़ास निकाली है. पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि तृणमूल के कई सीनियर नेता हताश हो गये हैं. माकपा नेता ने बताया कि श्री मित्रा ने यह भी बयान दिया है कि सारधा मामले में सीबीआइ ने उन्हें इसलिए 23 महीने तक जेल में रखा था कि सीबीआइ सिर्फ यह जानना चाह रही थी कि उत्तर बंगाल में सुदीप्त सेन के साथ हुई बैठक में कौन-कौन लोग शामिल थे और इस बैठक में क्या बात हुई थी. वह सब कुछ जानते हुए भी चुप रहे थे. तृणमूल विधायक के इस बयान को लेकर माकपा नेता ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस के सभी पुराने नेताओं को इस बैठक के बारे में मालूम है. अभी मुख्यमंत्री 180 डिग्री घुम गयी हैं. राज्य की जनता सब देख रही है. जनता हिसाब करके रहेगी.

About editor

Check Also

संदेशखाली की घटना ने मध्ययुगीन बर्बरता को भी मात दे दिया है : शिवराज

  हावड़ा : मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बंगाल के संदेशखाली …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *