Breaking News

डेंगू को लेकर प्रशासन तैयार


संघमित्रा सक्सेना

कोलकाता: डेंगू का खतरा बढ़ता ही जा रहा है। मच्छर से होनेवाली इस बीमारी से लोग परेशान हैं। वही यह बीमारी प्रशासन की भी सिरदर्द बन चुकी है। पश्चिमबंगाल स्वस्थ और परिवार दफ्तर के वेबसाइट पर डेंगू सर्वेलिएंस सिस्टम पेज में इससे जुड़े सभी जानकारी और सुविधा उपलब्ध है। राज्य के अलग अलग नगर निगम डेंगू से निपटने के लिए हर संभव प्रयास कर रही हैं।
*कहां पनपता है डेंगू की मच्छर?*
एडीज मच्छर दरहसल प्लास्टिक की थैली, पुराने टायर, बंद मकान, खाली जमीन और बंद मकान की छत पर जल जमाव के कारण पनपती है।

 


*डेंगू कहां सबसे ज्यादा है?* कोलकाता, नॉर्थ 24 परगना, बीरभूम और नदिया में डेंगू सबसे ज्यादा फैली है।
*डेंगू से निपटने केएमसी की दिशा निर्देश*
कोलकाता नगर निगम से एक एडवाइजरी जारी किया गया है। जिसमे बताया गया कि
*डेंगू एक संक्रामक बीमारी है। डेंगू से होनेवाले बुखार एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में नहीं फैलता है लेकिन मच्छर संक्रमित होने के कारण यह बीमारी तेजी से फैलती है।
*आसपास के इलाका और घर के छत को साफ रखने की हिदायद दो गई है।
*कोई भी खाली जगह में पानी न जमे इस बारे में कड़ी निर्देश दी गई है।
*हेल्थ डिपार्टमेंट के वेक्टर कंट्रोल वर्कर के साथ सहयोग करने की आग्रह किया गया।
* छात्र छात्राओं को संपूर्ण ढके हुए यूनिफॉर्म पहनने के लिए आग्रह किया गया। खासकर फूल स्लीव्स और फूल पैंट के लिए कहा गया।

 

 


*कोलकाता नगर निगम के 144 वार्ड में हर वर्ड में केएमसी हेल्थ सेंटर है। कोई भी बच्चा अगर डेंगू से पीड़ित हो तो समय व्यर्थ न कर केएमसी हेल्थ सेंटर से संपर्क करें।
* कोई भी दिक्कत होने पर या अपना संदेश पोहुचाने के लिए कीमसी के इस ईमेल पर संपर्क करें cmho@kmcgov.in और cmhomail@gmail.com
आपको बता दे कि कोलकाता नगर निगम के मुख्य प्रशासक फिरहाद हकीम और विधायक तथा डेप्युटी मेयर अतिन घोष ने 13 नंबर वॉर्ड का दौरा किया।
बीएसएनएल और कोल इंडिया क्षेत्र में दौरे पर पड़े टूटी कार, पुराने टायर आदि देख केएमसी एक्ट 496A की तहत कोल इंडिया के खिलाफ केस दर्ज करने की निर्णय लिया गया।

 

About editor

Check Also

बंगाली कीर्तन की खोई हुई महिमा वापस लाने के लिए ‘दरबारी पदबली’ लौट रहा है।

 कोलकाता: बंगाली शब्द ‘कीर्तन’ भारतीय संगीत की एक शाखा है, जिसके संगीत तत्व, भाषा, दर्शन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *