Breaking News

लोकसभा चुनाव से पहले बंगाल भाजपा ने किया बड़ा, सांगठनिक फेरबदल, 11 जिलाध्यक्ष बदले

Sonu jha

 

कोलकाता : अगले साल लोकसभा चुनाव से पहले पश्चिम बंगाल भाजपा ने जिला स्तर पर  संगठनात्मक संरचना में विस्तार व बड़ा फेरबदल किया है।रविवार को 11 जिलाध्यक्ष बदले जाने के साथ पार्टी ने मुस्लिम बहुल मुर्शिदाबाद जिले में एक नया सांगठनिक जिला बनाया है।

मुर्शिदाबाद की तीन लोकसभा सीटें, जो अब तक दो संगठनात्मक जिला समितियों द्वारा प्रबंधित की जाती थीं, अब तीन समितियों द्वारा संभाली जाएंगी और प्रत्येक जिले की एक-एक लोकसभा सीट की देखरेख करेंगी। पहले मुर्शिदाबाद उत्तर और दक्षिण नाम से दो संगठनात्मक जिले थे, इसे तीन भागों में तोड़कर जंगीपुर को नया संगठनात्मक जिला बनाया गया है। इसके बाद राज्य में लोकसभा की 42 सीटों के लिए भाजपा के सांगठनिक जिलों की संख्या बढ़कर 43 हो गई है। पहले 42 लोकसभा सीटों के लिए 42 सांगठनिक जिले थे। संगठनात्मक ढांचे में बदलाव की घोषणा प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने की। पार्टी सूत्रों के अनुसार, केंद्रीय नेतृत्व द्वारा राज्य में कम से कम 36 लोकसभा सीटें जीतने के लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए संगठनात्मक बदलाव किया गया है।

2019 में भाजपा ने 18 सीटें जीती थी। इस बार केंद्रीय नेतृत्व ने 36 का लक्ष्य रखा है।

इसके मद्देनजर भाजपा ने कई जिलों के संगठनात्मक मानचित्र में भी बदलाव किया है। दक्षिण 24 परगना में भाजपा का संगठन हमेशा कमजोर रहा है। लंबे समय तक पूर्व और पश्चिम नामक दो जिले थे। बाद में डायमंड हार्बर, जयनगर, मथुरापुर अलग जिले बना गए, लेकिन जादवपुर कोई अलग जिला नहीं था। जादवपुर लोकसभा क्षेत्र में दक्षिण 24 परगना (पूर्व) जिले के अंतर्गत पांच विधानसभाएं थीं। इन पांच विधानसभाओं एवं दक्षिण कोलकाता की दो विधानसभाओं को लेकर दक्षिण 24 परगना पूर्व की जगह अब जादवपुर नाम से अलग सांगठनिक जिला बनाया गया है।

——————-

सिलीगुड़ी, अलीपुरद्वार समेत 11 जिलों के अध्यक्ष बदले गए

 

बदली व्यवस्था में 31 जिला अध्यक्षों ने अपना पद बरकरार रखा है, जबकि 11 जिलों में बदलाव किया गया है। इसमें उत्तर बंगाल के सिलीगुड़ी व अलीपुरद्वार के अलावा दक्षिण बंगाल में बनगांव, बारासात, बैरकपुर, कोलकाता दक्षिण, हावड़ा टाउन, आसनसोल, आरामबाग, तमलुक, कांथी शामिल है, जहां के जिलाध्यक्ष बदले गए हैं।

 

मनोज तिग्गा बने अलीपुरद्वार के जिलाध्यक्ष

 

पार्टी के अब तक दो विधायक ही जिलाध्यक्ष बने हुए थे। वह संख्या बढ़कर सात हो गई है। पांच और विधायकों को जिलाध्यक्ष की जिम्मेदारी दी गई है। इसमें विधानसभा में पार्टी के मुख्य सचेतक मनोज तिग्गा को अलीपुरद्वार संगठनात्मक जिले का अध्यक्ष बनाया गया है।

 

अरुण मंडल सिलीगुड़ी व बप्पादित्य चटर्जी आसनसोल के जिलाध्यक्ष बने

 

पार्टी ने अरुण मंडल को सिलीगुड़ी का जबकि बप्पादित्य चटर्जी को आसनसोल का जिलाध्यक्ष नियुक्त किया है।

 

About editor

Check Also

बंगाल की धरती पर हुआ राष्ट्रीय झंडे का अपमान।

Howrah :जहां लोग तिरंगा झंडा को लेकर आन बान शान के लिए मर मिटने को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *